रोहतक में स्नातकोत्तर आयुर्विज्ञान संस्थान (PGIMS)/| Photo: http://www.pgimsrohtak.ac.in/campus.htm


Text Size:

रोहतक: रोहतक का पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज़ (पीजीआएमएस), एक कोविड-19 हॉटस्पॉट बनकर उभरा है, चूंकि 2 अप्रैल को संस्थान के गाइनोकोलोजी विभाग के, स्वास्थ्य देखभाल करने वाले 24 कर्मचारियों की जांच, पॉज़िटिव पाई गई है.

सभी संक्रमित स्टाफ सदस्य, गाइनोकोलोजी विभाग के लेबर रूम में तैनात थे.

सूत्रों ने दिप्रिंट को बताया, कि अस्पताल द्वारा की गई जांच में पता चला है, कि संक्रमण फैलने का स्रोत एक जन्मदिन पार्टी थी, जिसमें संक्रमित हुए लोगों में से एक कर्मचारी ने, मार्च के दूसरे सप्ताह में शिरकत की थी.

पीजीआईएमएस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने, नाम न बताने की शर्त पर कहा, ‘फैकल्टी के एक सदस्य ने मार्च के दूसरे सप्ताह में, अस्पताल के बाहर एक बर्थडे पार्टी दी थी. आधा दर्जन पोस्टग्रेजुएट (पीजी) छात्र उस पार्टी में शरीक हुए. उस पार्टी में शामिल होने वाले एक सदस्य को, बुख़ार और मिचली जैसे हल्के लक्षण थे’.

‘स्टाफ के ये सभी सदस्य, एक ही लेबर रूम में तैनात थे, और एक ही हॉस्टल में रहते थे. इसी वजह से लेबर रूम, एक रेड ज़ोन में तब्दील हो गया’.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें