चंडीपुर/कोलकाता. पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव (West Bengal Assembly Elections) के प्रथम चरण में 30 सीटों में से 26 पर भाजपा के जीतने के केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) के दावे को तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने खारिज करते हुए रविवार को कहा कि मतगणना के बाद जनता का फैसला पता चल जाएगा. अमित शाह ने दिन में नयी दिल्ली में अपने आवास पर संवाददाता सम्मेलन में यह दावा किया था. हालांकि, ममता ने अमित शाह का नाम नहीं लिया, लेकिन उन्होंने सवाल किया कि चुनाव होने के महज एक दिन बाद ही इस तरह का दावा कैसे किया जा सकता है.

मुख्यमंत्री ने नंदीग्राम से लगे चंडीपुर विधानसभा क्षेत्र में एक चुनाव रैली में चुटकी लेते हुए कहा, ‘‘एक नेता ने आज कहा कि भाजपा पहले चरण की 30 में से 26 सीटों पर जीत हासिल करेगी, सभी 30 सीटों पर दावा क्यों नहीं कर दिया, क्या उन्होंने शेष सीटें कांग्रेस और माकपा के लिए छोड़ दी है?’’ ममता ने कहा कि “क्या गृह मंत्री ईवीएम में गए हैं. आप ये क्यों नहीं कहते कि भाजपा सभी 30 सीटें जीतेगी. 2 मई का इंतजार करें. टीएमसी जीतेगी. बाहरी लोग बंगाल पर राज नहीं कर सकते.”

ममता ने कहा कि वह किसी तरह का अनुमान नहीं लगाएंगी. उन्होंने कहा कि यह जनता का फैसला है, जो मतगणना के बाद पता चलेगा.

ये भी पढ़ें- संजय राउत ने देशमुख को बताया ‘एक्सीडेंटल’ गृह मंत्री, NCP ने किया पलटवारबंगाल में आठ चरणों में विधानसभा चुनाव हो रहे हैं और मतगणना दो मई को होगी.

ममता ने कहा, ‘‘चूंकि 84 प्रतिशत मतदान हुआ है, मैं अंदाजा लगा सकती हूं कि लोगों ने हमारे पक्ष में वोट दिया है.’’

डेरेक ओ ब्रायन ने भी साधा निशाना
तृणमूल कांग्रेस के राज्यसभा सदस्य डेरेक ओ ब्रायन ने भी शाह के संवाददाता सम्मेलन के शीघ्र बाद एक ट्वीट में कहा, ‘‘माइंड-गेम काम नहीं करेगा, मो-शा (मोदी-शाह के संदर्भ में)’’ पार्टी के वरिष्ठ नेता ने कहा, ‘‘सीटों पर अपना अनुमान लगाने का स्टंट गुजरात जिमखाना में करिए. यह बंगाल है. खेला होबे.’’

तृणमूल सांसद के पोस्ट में ‘‘टीएमसी स्वीप्स फेज1’’(तृणमूल कांग्रेस प्रथम चरण के चुनाव में सूपड़ा साफ कर देगी) हैश टैग के साथ पार्टी के ‘‘खेला होबे’’ अभियान का भी जिक्र किया गया है.

शाह ने दिया था ये बयान
शाह ने संवाददताओं से कहा कि प्रथम चरण में मतदान प्रतिशत के अधिक रहने से यह संकेत मिलता है कि भाजपा 30 सीटों पर हुए चुनाव में ज्यादातर को अपनी झोली में डालेगी.

वहीं, ममता ने लोगों से भूल जाने को कहा कि किसी सीट पर तृणमूल कांग्रेस का उम्मीदवार कौन है. उन्होंने कहा कि हर सीट पर पार्टी की उम्मीदवार वही (तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ही) हैं.

ये भी पढ़ें- कोरोना:2021 में पहली बार 300 से अधिक मौतें, नए केस भी 163 दिन में सबसे ज्‍यादा

नंदीग्राम सीट पर एक अप्रैल को चुनाव होने वाला है. वहां ममता के अलावा 29 अन्य उम्मीदवार हैं.

ममता ने तृणमूल कांग्रेस के पोलिंग एजेंटों से कहा कि वे किसी भी कीमत पर बूथ नहीं छोड़ें. उन्होंने कहा कि यदि कोई पार्टी के खिलाफ काम करेगा या विपक्षी दलों से पैसे लेगा, तो उन्हें पता चल जाएगा, क्योंकि उनकी नजर सब पर है. तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ने कहा, ‘‘अन्य स्थानों पर मुझे इस तरह की चीजें होने की आशंका नहीं है, लेकिन यहां गद्दारों के चलते यह स्थिति है. ’’

गौरतलब है कि शुभेंदु अधिकारी, उनके पिता शिशिर अधिकारी और उनके एक भाई सौमेंदु ने तृणमूल कांग्रेस छोड़ कर भाजपा का दामन थाम लिया है.

ममता ने यह दावा भी किया कि हैदराबाद का एक नेता बंगाल में अल्पसंख्यक वोट बांटने के लिए आया है. उन्होंने जानना चाहा कि दिल्ली और गुजरात में हुए सांपद्रायिक दंगों के दौरान वह कहां थे.

एआईएमएआईएम नेता असदुद्दीन ओवैसी ने बंगाल में कुछ सीटों पर उम्मीदवार उतारने की बात कही थी.

(Disclaimer: यह खबर सीधे सिंडीकेट फीड से पब्लिश हुई है. इसे News18Hindi टीम ने संपादित नहीं किया है.)



Source link

0

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Instagram

This error message is only visible to WordPress admins

Error: No connected account.

Please go to the Instagram Feed settings page to connect an account.