प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 1 अप्रैल 2021 को दक्षिण 24 परगना जिले, पश्चिम बंगाल के जयनगर में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए/पीटीआई


Text Size:

बैरकपुर (पश्चिम बंगाल): पश्चिम बंगाल चुनाव तीसरे दौर में दाख़िल होने जा रहे हैं, और इसके साथ ही ‘अंदरूनी-बाहरी’ की राजनीति गर्माने लगी है. राज्य की ग़ैर-बंगाली आबादी को ‘अपमानित’ करने को लेकर, बीजेपी अब सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) को घेरने की कोशिश कर रही है.

नॉर्थ 24 परगना ज़िले की बैरकपुर सब-डिवीज़न में, मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के ‘बाहरी’ के ताने का ख़ूब प्रचार करके, बीजेपी हिंदी भाषी लोगों के वोटों पर क़ब्ज़ा करने की कोशिश कर रही, जो वहां की आबादी का 40 प्रतिशत हैं.

ये सब-डिवीज़न हिंदी-भाषी लोगों का एक प्रमुख केंद्र है, जहां हुगली नदी के आसपास, जूट मिलें और मध्यम स्तर के उद्योग स्थापित हैं, जिनमें बड़ी संख्या में बिहार और उत्तर प्रदेश से आए, प्रवासी मज़दूर काम करते हैं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बृहस्पतिवार को, सूबे की राजधानी कोलकाता से 60 किलोमीटर दूर जयनगर में, एक रैली को संबोधित करते हुए बनर्जी से कहा, कि बिहार और यूपी के उन लोगों का अपमान न करें, जो बंगाल में रह रहे हैं.

मोदी ने कहा, ‘आप मेरा अपमान कर सकती हैं, मुझ पर छींटे कस सकती हैं, लेकिन भारतीय संविधान का सम्मान कीजिए, और भारतीय नागरिकों को बाहरी मत कहिए. कभी दीदी मुझे सैलानी कहती हैं, कभी बाहरी कहती हैं. दीदी, आप घुसपैठियों को अपना कहती हैं, लेकिन भारत माता के बच्चों को बाहरी मत कहिए’. जयनगर में 6 अप्रैल को, तीसरे चरण में वोट डाले जाएंगे.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें