इंद्रजीत सिंह, मुंबई: कारोबारी मुकेश अंबानी के घर एंटालिया के बाहर विस्फोटक से भरी स्कॉर्पियो मिलने के बाद इस मामले में रोज नई-नई जानकारी सामने आ रही है। मामले की जांच कर रही एनआईए से जुड़े सूत्रों के मुताबिक सचिन वाजे टेक्नो सेवी शख्स है। ऐसे में उससे पूछताछ करने वाली टीम में अब NIA ने टेक्निकल एक्सपर्ट की टीम को भी शामिल करना पड़ा है।

जानकारी के अनुसार साल 2018 में वाजे ने मैसेजिंग एप Whatsapp की तर्ज पर DIRECT BAT नाम से एक मोबाइल मेसेजिंग एप बनाया था। ये एप शुरू में गूगल प्ले स्टोर पर भी उपलब्ध था। लेकिन अब इसे हटा लिया गया है।

सूत्रों के मुताबिक वाजे ने स्वीकार किया है कि ये एक बेहद सुरक्षित एप था, जिससे वो सरकारी अधिकारियों और कारोबारियों से सीधे बात करता था। सचिन वाजे ने इस एप से किस-किस से बात की थी, NIA इस पूरी जानकारी को खंगालने में जुटी है।

इसे भी पढ़ें : मुकेश अंबानी के घर के बाहर कार मिलने के मामले में एनआईए की बड़ी कार्रवाई, सचिन वझे गिरफ्तार

इतना ही नहीं सचिन वाजेे ने Google की तर्ज पर अपना खुद का सर्च इंजन भी बनाया था, जिसका नाम Indianpeopledirector.com रखा। इस सर्च इंजन को वाजे ने साल 2012 में अपने निलंबन के समय तैयार किया था। सूत्रों की मानें तो वाज़े ने दावा किया है की ये सर्च इंजन गूगल की ही तरह यूजर को सारी जानकारी देता था। लेकिन ये सिर्फ सिर्फ इंडियन लोगो से संबंधित जानकारी उपलब्ध कराता था

जबकि पुलिस महकमे से इस्तीफा देने से पहले वाजे ने साल 2006 में फेसबुक की तर्ज पर मराठी भाषआ में ‘लयभारी’ (LAI BHARI) नाम से एक और एप्लिकेशन तैयार की।

इसे भी पढ़ें: एंटीलिया विस्फोटक केस में बड़ा खुलासा, इसलिए दोबारा स्कॉर्पियो के पास गया था सचिन वाजे

इन्हीं खूबियों को देखते हुए साल 2020 में सचिन वाजे को CIU और साइबर से जुड़े केस दिए गए। यहां तक कि ऋतिक रोशन और कंगना विवाद का सायबर में चल रहा मामला भी जांच के लिए वाजे को ही दे दिया गया। क्योंकि मुम्बई पुलिस की सायबर सेल से ज्यादा टेक्नो एक्सपर्ट वाजे को माना जाता है।



Source link

0

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Instagram

This error message is only visible to WordPress admins

Error: No connected account.

Please go to the Instagram Feed settings page to connect an account.