(केजे श्रीवत्सन) जयपुर: राजस्थान में कोरोना बेकाबू हो गया है। जिसके बाद सरकार ने सख्ती दिखाते हुए रात 8 बजे से सुबह 6 बजे तक नाईट कर्फ्यू लगा दिया है। लगे हाथों सरकार ने लॉकडाउन को भी विकल्प मानाने से इनकार करते हुए साफ कर दिया है की अब जांच की गति को बढ़ाया जाएगा। वैसे सरकार ने अपनी नयी संशोधित गाइडलाइन के तहत कक्षा 1 से 9 वीं तक के स्कूलों को बंद रखने के साथ ही जिम, सिनेमाघर, स्विमिंग पूल भी 19 अप्रैल तक बंद कर दिए हैं। साथ ही कोरोना के नए स्ट्रेन की पहचान के लिए दिल्ली की जेनान लैब को राजस्थान द्वारा भेजे जाने वाले हर सेम्पल की रिपोर्ट देने को कहा है। 

फिरोज खान जयपुर के सोडाला इलाके में जिम चलाते हैं। जहां हर रोज 20 से 25 लोग वर्जिश के लिए आ जाते थे। पिछले साल अगस्त महीने में ही सरकार ने राजस्थान में जिम खोलने की इजाजत दी थी, लेकिन अब एक बार फिर से कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते इसे बंद करने का निर्देश जारी दिया है। नतीजा यहां सन्नाटा छाया हुआ है। यही हाल जयपुर सहित राजस्थान के सभी जिम का है और अब जिम मालिक चाहते हैं कि सरकार चाहे तो पहले की तरह कुछ और सख्त निर्देश जारी कर दें, लेकिन जिम को अचानक लम्बे समय तक बंद रखने का फैसला उनके और उनके परिवार को इस बार पूरी तरह बर्बाद करके रख देगा। 

जिम की तरह अब राजस्थान में सभी सिनेमाघारों को भी बंद कर दिया गया है। इसी साल इसे आधी क्षमता के साथ जैसे-तैसे शुरू करने की इजाजत दी गयी थी, लेकिन अब फिर से इन पर बढ़ते कोरोना मामलों की सबसे पहली मार पड़ी है। जयपुर के विश्व प्रसिद्ध राजमंदिर सिनेमाघार में हर रोज 70 से 80 लोग मनोरंजन के लिए फिल्म देखने आ जाते थे, लेकिन सोमवार से सबको बैरंग लौटना शुरू कर दिया गया है।    

राजस्थान में भयावह स्थिति: 

दरअसल कुछ लोगों की लापरवाही और सतर्कता नहीं बरतना अब हालत को और भी भयावह कर रहा है। अप्रैल के पहले 4 दिन में ही राज्य में 6,176 नए मरीज मिल चुके हैं। जबकि पिछले साल यही आंकड़ा इस पूरे अप्रैल महीने में महज 2,584 ही था। यानी कि दूसरी लहर में कोरोना संक्रमण पहली की तुलना में दो से तीन गुना तेजी से बढ़ रहा है। हर रोज बीते 24 घंटे में 1500 से भी ज्याद नए मरीज मिल रहे हैं। यही कारण है कि सरकार ने कक्षा 1 से 9वीं तक की रेगुलर क्लास पर रोक लगा रखी है। शादी समारोह में ज्यादा से ज्यादा 100 मेहमानों और सामाजिक, धार्मिक, राजनीतिक, खेल, मनोरंजन और शैक्षणिक कार्यक्रम या आयोजन जो इंडोर हॉल में होंगे उनमें भी अधिकतम 100 से ज्यादा व्यक्तियों के आने पर रोक लगा दी है। साथ ही अब हरियाणा और दिल्ली से राजस्थान में प्रवेश करने वालों को कोरोना की निगेटिव रिपोर्ट दिखाना जरूरी होगा।

लॉकडाउन अर्थव्यवस्था को प्रभावित करेगा: रघु शर्मा 

राजस्थान के स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा ने कहा कि अभी 70 फीसदी RT-PCR टेस्ट हो रहे हैं। अब इसे 1 लाख तक बढ़ाया जाएगा। लॉकडाउन अर्थ व्यवस्था को प्रभावित करेगा इसीलिए हम पहले सख्ती बरतकर लोगों को समझा रहे हैं। बाहर से आने वाले लोगों को 72 घंटे पहले का कोरोना जांच रिपोर्ट लाना होगा वरना उन्हें 14 दिन होम क्वारेंटाइन में भेजा जाएगा। 



Source link

0

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Instagram

This error message is only visible to WordPress admins

Error: No connected account.

Please go to the Instagram Feed settings page to connect an account.