नई दिल्ली: देश में कोरोना की दूसरी लहर बेहत खतरनाक है। कोरोना की दूसरी लहर देश में तेजी से कहर बरपा रही है। उत्तर से दक्षिण और पूरब से पश्चिम तक लापरवाही की वजह से कोरोना वायरस हर दिन मजबूत होता जा रहा है। देश में कोरोना की दूसरी लहर के चलते हालात तेजी से बिगड़ रहे हैं। पिछले 24 घंटे में दुनिया में सबसे ज्यादा 93 हजार से अधिक कोरोना संक्रमित भारत में मिले हैं। वहीं 513 लोगों ने एक दिन में कोरोना से जान गंवाई है। पिछले छह महीने के केसों की बात करें तो ये एक दिन में सबसे ज्यादा मामले हैं। देश में इससे पहले एक दिन में सर्वाधिक 97 हजार नए मामले 17 सितंबर को मिले थे। 

पिछले साल सितंबर में नए केस 97 हजार तक पहुंच गए थे, जो फरवरी में घटकर 9 हजार तक रह गए थे। उसके बाद फिर नंबर बढ़ता गया और लगातार बढ़ ही रहा है। फिर 90 हजार के आसपास नए केस सामने आ रहे हैं। एक बार फिर डेली कोरोना केसों के मामले में भारत दुनिया में पहले नंबर पर पहुंच गया ये स्थिति खासी भयावह नजर आ रही है। दुनिया में अब तक हुई मौतों के मामले में भारत तीसरे स्थान पर पहुंच गया है।  बीते एक दिन में ब्राजील में 69,662 और अमेरिका में 69,986 नए मामले मिले हैं। 

आज सुबह स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक पिछले 24 घंटों में देश में कोरोना के 93,249 नए मामले सामने आए हैं। जबकि 513 लोगों की कोरोना से मौत हुई है। इसके साथ ही देश में अब कोरोना के मामले बढ़कर 1,24,85,509 हो गए हैं। वहीं 1,16,29,289 मरीज कोरोना से अब तक ठीक हो चुके हैं। जबकि इस वैश्विक महामारी की चपेट में आने से अबतक 1,64,623 लोगों की मौत हो चुकी है।  देश में फिलहाल कोरोना के 6,91,597  एक्टिव केस हैं। जिनका अलग-अलग अस्पतालों में इलाज चल रहा है। आईसीएमआर (ICMR) के मुताबिक, देश में पिछले 24 घंटे के अंदर 11,66,716 कोरोना जांच की गई है।

भारत में कोरोना की नई लहर तीन गुनी रफ्तार से बढ़ रही है दूसरी लहर में एक दिन में केस 20 हजार से 80 हजार पहुंचने में 20 दिन लगे वहीं पिछले साल पहली लहर के दौरान ऐसा होने में 64 दिन लगे थे। सबसे खराब हाल महाराष्ट्र का है जहां 24 घंटे में 48 हजार के करीब केस आए हैं।

रिसर्च के मुताबिक, अप्रैल के मध्य का वक्त संक्रमण का पीक हो सकता है जब ऐक्टि‍व केस 7.3 लाख तक जा सकते हैं। वहीं, बदतर हालात में मई के अंत तक एक्टि‍व केस की संख्या एक बार फिर 20 लाख तक पहुंच सकती है। वहीं दूसरी लहर के कारण संक्रमितों की संख्या को लेकर विशेषज्ञों का कहना है कि इस बार का संक्रमण ज्यादा तेज हो सकता है, भारत में कोविड-19 के मामले 15 से 20 अप्रैल के बीच अपने चरम पर होंगे।

कोरोना की दूसरी लहर पर काबू करने के लिए राज्यों ने अपने स्तर पर कड़े कदम उठाने शुरू कर दिए हैं। राज्यों ने आंशिक लॉकडाउन के साथ ही सार्वजनिक कार्यक्रमों पर प्रतिबंध लगाने का फैसला लिया है। महाराष्ट्र के पुणे में सात दिन तक बार, रेस्त्रां, होटल और धार्मिक स्थल पूरी तरह से बंद रहेंगे। वहीं छत्तीसगढ़ के दुर्ग में 6 से 14 अप्रैल तक संपूर्ण लॉकडाउन लग गया है। इसके अलावा मध्यप्रदेश सरकार ने राज्य के चार जिलों में लॉकडाउन लगा दिया है।



Source link

0

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Instagram

This error message is only visible to WordPress admins

Error: No connected account.

Please go to the Instagram Feed settings page to connect an account.